PM Kisan Yojana पर आया बड़ा अपडेट! अब सिर्फ इन किसानों को मिलेंगे सम्मान निधि के 6000 रुपये

PM Kisan Yojana

योजना के तहत सरकार की ओर से किसानों के खाते में हर साल 6000 रुपये दिए जाते हैं, लेकिन लाभार्थी पात्र किसान इस राशि का लाभ कैसे उठा रहे हैं, इसकी जानकारी सरकार को नहीं मिल पा रही है.  यही वजह है कि सरकार ने सभी लाभार्थियों को किसान क्रेडिट कार्ड योजना से जोड़ने का निर्देश दिया है.  किसानों को eKYC भी करानी होगी.

PM Kisan Yojana पर आया बड़ा अपडेट! अब सिर्फ इन किसानों को मिलेंगे सम्मान निधि के 6000 रुपये

हमारे WhatsApp Group मे जुड़े👉 Join Now

हमारे Telegram Group मे जुड़े👉 Join Now

 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों के किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) को योजना से जोड़ने की तैयारी चल रही है।  इसके लिए सभी कृषि समन्वयकों एवं किसान सलाहकारों को अधिक से अधिक किसानों को इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रेरित करने का निर्देश दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक योजना के तहत सरकार की ओर से हर साल किसानों के खाते में 6000 रुपये दिए जाते हैं, लेकिन इस राशि का लाभ लाभार्थी पात्र किसान कैसे उठा रहे हैं, इसकी जानकारी सरकार को नहीं मिल पा रही है.

5 के नोट पर छपी ट्रैक्टर की फोटो तो 18 लाख रुपये में करें बिक्री, जाने आसान तरीका

ऐसे में सभी किसानों को केसीसी उपलब्ध कराने की योजना तैयार की गई है.  इसमें वैसे किसानों को शामिल किया जायेगा, जो पहले से केसीसी से नहीं जुड़े हैं.  योजना के तहत किसानों को बैंक द्वारा ऋण दिया जाएगा।

जल्द ही किसानों को मिलेगी 16वीं किस्त की राशि

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 16वीं किस्त की रकम जल्द आने की संभावना है।  इसके लिए जिन किसानों ने अभी तक ई-केवाईसी या एएनपीसीआई नहीं कराया है।  इस संबंध में उन्हें लगातार जागरूक एवं प्रेरित किया जा रहा है।  जो किसान ये जरूरी काम नहीं करेंगे उन्हें इस 16वीं किस्त के 2,000 रुपये नहीं मिलेंगे.

₹75000 में लॉन्च हुई Honda Shine 100 कातिल लुक , 80kmpl माइलेज…

 पीएम किसान योजना में धोखाधड़ी रोकने के लिए केंद्र सरकार ने ई-केवाईसी या एनपीसीआई और भूमि सत्यापन अनिवार्य कर दिया है।  यह अभियान गैर-केसीसी खाताधारक लाभार्थियों तक पहुंचने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।  – रामानंद राय, बीएओ, नवहट्टा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *